पोलिस और चोर

एक साजन नाम का आदमी था वो बिहार का रहने वाला था बिहार में आप या तो पॉलिटिक्स में जाते हो या तो सरकारी नौकरी में जवान होने के बाफ इसके अलावा बिहारी को ज्यादा सूझता नहीं उसके पिताजी भी ऐसे ही ख्याल के थे वो अपने बेटे को फ़ौज में देखना चाहते थे

लेकिन साजन बहुत बड़ा डरपोक था वो फ़ौज म जाने से डर लगता था लेकिन उसे भी कोई सरकारी नौकरी में जाना चाहता था तो उसने तरय किया पुलिस में जाने का और करीबन सभी ट्रेनिंग खत्म की और पास किया

लेकिन आखरी में उसे ५ लाख घूस देना था जिससे वो अपनी पुलिस वाली नौकरी पक्की कर लेता उसके पास ज़मीन अच्छी खासी थी उसने थोड़ा सा ज़मीन बेच के पुलिस में भर्ती होगया. तो उसे लगा पुलिस की नौकरी बहुत आसान होती है

उसने अपने शुरुआत के ६ महीने बड़ी आराम से गुजारे बबाद में उसका ट्रांसफर एक २५ लोग रहने वाले गांव में होगयी और वह चोरी बहुत होती थी वह डाकू बहुत सारे थे तो वो ऐसे ही बहुत डरपोक था वो ऑटो गया इस गांव में लेकिन बहुत डरा हुआ था

एक दिन वो वाले गांव में डाकू आये और बहुत साड़ी चोरी की और गांव वालो ने अपने पुलिस स्टशन जाके नए पुलिस वाले को सब बोलै तो उसने बोलै टेंशन ममत लो इसके बाद कोई चोरी नहीं होगी

तो उसने एक प्लान बनाया वो चोर के अड्डे पे गया और कहा भैया में पुलिस हु में चाहु तो तुम्हे अभी गिरफ्तार करके पुलिस स्टेशन ले के जा सकता हूँ लेकिन में ऐसा नहीं करूंगा मुझे सिर्फ तुम लोग को कहना है अगर तुम चोरी कर रहे हो तो मेरे गांव के यहाँ चोरी मत करो दूसरे गांव में चोरी करो और मुझे उसमे से कुछ कमीशन चाहिए तो वो चोर मान गए

बदले में चोरो ने कहा हमे पुलिस से कोइ खतरा नहीं होना चाहिए तो उस पुलिस वाले ने कहा हां कोई खतरा नहीं होगा सिर्फ कोई जगह चोरी करने से पाहिले मुझे बता देना में वह से पुलिस को हटा दूंगा चोर म्मान गए

उन्होंने कहा हम परसो समसपुर गांव में चोरी करेंगे रात को पुलिस ने कहा हां करो कोई चिंता नहीं सिर्फ मुझे मेरा पैसा दे देना तो पुलिस और चोर में डील फाइनल हुई और प्लान के मुताबिक वो चोर परसो गांव आये और चोरी करना शुरू की अचानक से वह पे करीबन १०० पुलिस वाले आगये और सारे चोर को गिरफ्तार कर लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *